ऊर्जा मंत्री के आश्वासन के बाद...आतंकी जैसा बर्ताव...
ऊर्जा मंत्री के आश्वासन के बाद...आतंकी जैसा बर्ताव...
Regional News updated 1 month ago

ऊर्जा मंत्री के आश्वासन के बाद...आतंकी जैसा बर्ताव...

पांवटा साहिब में गौ सेवक के साथ प्रशासन द्वारा दमनकारी नीति अपनाई गई जो कि बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है वहीं भाजपा सरकार में गौ सेवकों के साथ यह बर्ताव सरकार पर भी सवालिया निशान खड़े करता है।

0

गौ सेवक से आतंकी जैसा बर्ताव...

Image

प्रशासन की हरकत दमनकारी...

ASOKA TIME'S/पांवटा साहिब

पांवटा साहिब में आमरण अनशन पर बैठे हैं सचिन ओबरॉय को स्थानीय पुलिस और प्रशासन द्वारा जबरन उठाया गया और उन्हें अज्ञात स्थान पर ले जाया गया है ।

बता दें कि पिछले 4 दिनों से सचिन ओबरॉय सड़कों पर बेसहारा घूम रही गोवंश के लिए आमरण अनशन पर बैठे हुए थे लेकिन आज चौथे दिन सुबह-सुबह तहसीलदार वेद प्रकाश अग्निहोत्री की अगुवाई में थाना प्रभारी अशोक चौहान और 15 से 20 पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और जबरन सचिन ओबरॉय को उठाया गया हालांकि उनकी तबीयत अभी इतनी खराब नहीं थी कि उन्हें इस तरह से उठाया जाता।

वहीं दूसरी और सचिन ओबरॉय के गोवंश संरक्षण के लिए आमरण अनशन पर बैठने से प्रशासन और यहां तक कि मंत्री सहित सरकार की भी किरकिरी हो रही थी जिसके कारण शुक्रवार सुबह सुबह उच्च अधिकारियों के आदेशों के बाद यह हरकत स्थानीय पुलिस प्रशासन द्वारा की गई ऐसा बताया जा रहा है कि उन्हें नाहन मेडिकल कॉलेज लेकर गए हैं जबकि उनका बीपी और शुगर लेवल थोड़ा सा डाउन जरूर था तो सवाल यह उठता है कि क्या स्थानीय प्रशासन और उच्च अधिकारियों की साजिश के तहत इस कृत्य को अंजाम दिया गया है।

 वहीं दूसरी और सचिन ओबरॉय की जगह पर गांव सेवक अजय संसरवाल ने जिम्मेदारी संभाल ली है और उन्होंने भूख हड़ताल पर बैठने का प्रण लिया है फिलहाल अजय सनसनवाल सचिन ओबरॉय की जगह पर भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं।

वही पुलिस द्वारा जबरन उठाए गए सचिन ओबरॉय की वीडियो भी वायरल हुई है जिसमें उन्हें जबरन उठाए जाने की कवायद दिख रही है

दूसरी ओर गौ माता के नारे के साथ सत्ता में आई भाजपा सरकार पर भी सवाल खड़े हो गए हैं कि आखिर गोवंश संरक्षण के लिए बैठे सचिन ओबरॉय को इस तरह साजिश के तहत उठाने की क्या आवश्यकता आन पड़ी थी बता दें कि ऊर्जा मंत्री चौधरी सुखराम के आश्वासन के बाद यह हरकत स्थानीय प्रशासन द्वारा की गई है।

 

 

infoclear

0

0 Comments

Was this article helpful ?

0
0

Subscribe to our email newsletter & receive updates right in your inbox.